सोलर पैनल की दिशा क्या होनी चाहिए | In Which Direction Solar Panel Should Be Installed? - MS3 Naveen Kumar

सोलर पैनल की दिशा क्या होनी चाहिए | In which direction solar panel should be installed?

Reading time <1 Min

सोलर पैनल

जब हम सोलर पैनल या सोलर एनर्जी सिस्टम की बात कर रहे हैं तो हमें ये समझना बहुत जरूरी होता है की आखिर सोलर पैनल की दिशा या सोलर पैनल का फेस किस दिशा में और क्यों रखना चाहिए ?

सोलर पैनल की दिशा
सोलर पैनल की दिशा

पर इस सवाल के जबाब से पहले हमे ये समझना होगा की आखिर सोलर पैनल काम कैसे करता है अर्थात इससे बिजली कैसे उत्पन्न होती है ? तो मैं आपको बता दूँ , जब भी सूरज की किरणे सोलर पैनल पे पड़ती है, इसके फलस्वरूप सोलर सेल्स में इलेक्ट्रान का प्रवाह होने लगता है और इन्ही इलेक्ट्रॉन्स के प्रवाह के कारन बिजली उत्पन्न होती है। अर्थात सूरज की किरण सोलर पैनल पे पड़ने के उपरांत हीं यह बिजली उत्पन्न करने में सक्षम है।

सोलर पैनल की दिशा क्या होनी चाहिए ?

सोलर पैनल की दिशा क्या होनी चाहिए इसके लिए सबसे पहले हमे ये समझना होगा की सोलर पैनल पुरे दिन के अंतराल में सबसे जयादा बिजली कब उत्पन्न करती है या पुरे दिन में इसकी बिजली उत्पन्न करने की क्षमता सबसे जयादा कब होती है ? इसका जबाब हम एक ग्राफ से समझते हैं ।

Electricity Generation pattern during day time
Electricity Generation pattern during day time

इस ग्राफ को देखने से एक बात अच्छे से समझ में आ रही है की सोलर मॉडुल दोपहर 11 से 3 बजे तक सबसे जयादा बिजली उत्पन्न करती है अर्थात इसकी बिजली उत्पन्न करने की क्षमता सबसे जयादा होती है।

इसका मतलब है की जब सूरज की किरण जब सोलर पैनल पे सीधे पड़ती उस समय इसकी बिजली उत्पन्न करने की क्षमता सबसे जयादा होती है, और ऐसा तभी संभव है जब हम सोलर पैनल का फेस या सोलर पैनल की दिशा सूरज के तरफ रखे।

इससे एक बात तो स्पस्ट होती है की हमें सोलर पैनल दिशा हमेशा दक्षिण की ओर रखना चाहिए अर्थात इसका फेस दक्षिण दिशा में होनी चाहिए । इसके साथ साथ मॉडुल की बिजली उत्पन्न करने की क्षमता इस बात पे भी निर्भर करती है की इसे कितने डिग्री के एंगल पे लगाना चाहिए।

सोलर पैनल दक्षिण दिशा में कितने एंगल पे लगानी चाहिए ?

सोलर पैनल की दिशा
Sun Position during all the seasons

सोलर पैनल की दिशा के बारे में जान चुके हैं पर सोलर पैनल कितने एंगल पे लगाना चाहिए, इस सवाल का जवाब मौसम के अनुसार बदलता रहता है। अगर हम पुरे साल में सूरज की स्थिति देखे तो ये हमेशा एक जैसा नहीं रहता है।

गर्मी के दिनों या जून के महीने में सूरज की किरणे पृथ्वी पर सीधे पड़ती है इसके विपरीत ठण्ड के दिनों में या दिसंबर के महीने में इसकी किरणे तिरछी पड़ती है। अर्थात हमें सोलर पैनल का एंगल भी इसके अनुसार हीं लगाना पड़ेगा ताकि इसकी बिजली उत्पन्न करने की क्षमता जयादा हो।

सोलर पैनल की दिशा
Sun Position during season

ठण्ड के दिनों में सोलर पैनल को 55 से 60 डिग्री के एंगल पे रखने से इसकी बिजली उत्पन्न करने क्षमता अच्छी होती है, वही अगर हम गर्मी की बात करे तो, चुकी गर्मी में सूरज के किरणे पृथ्वी पे सीधी पड़ती है यही कारन है की जून के महीने में सोलर पैनल को 15 से 20 डिग्री के एंगल पे लगाने से इसकी बिजली उत्पन्न करने की क्षमता सबसे जयादा होती है।

वही अगर हम वसंत ऋतू की बात करे तो सोलर पैनल को 40 से 45 डिग्री के एंगल पे लगाने से यह जयादा बिजली उत्पन्न करती है।

इससे एक बात तो स्पस्ट है की हमे सोलर पैनल की बिजली उत्पन्न करने क्षमता जितनी है या सोलर पैनल बनाने वाली कंपनी जितने का दवा कर रही है, अगर हमें उतनी बिजली चाहिए तो सोलर पैनल की दिशा दक्षिण में और मौसम के अनुसार सोलर पैनल का एंगल बदलना पड़ेगा।

अब आप सोच रहे होंगे की इसके लिए स्ट्रक्चर बदलना पड़ेगा तो ऐसा बिलकुल नहीं है। बस आपको ये धयान देना है की, जिस कमपनी से आप सोलर पैनल इनस्टॉल करवा रहे हैं उसे ये बात समझा देगी होगी की हमें फ्लेक्सी एंगल का स्ट्रक्चर लगवाना है। तब वो कंपनी आपको वैसा हीं अरेंजमेंट कर के सोलर पैनल लगा देगी।

सोलर पैनल की दिशा के साथ ये भी धयान रखना चाहिए की सोलर पैनल के ऊपर किसी पेड़ या दिवार की परछाई नहीं पड़नी चाहिए।

निष्कर्ष (Conclusion):

सोलर पैनल की दिशा या फेस हमेशा दक्षिण की ओर होनी चाहिए, और एंगल ठण्ड के दिनों में 55 से 60 डिग्री, वसंत ऋतू में 40 से 45 डिग्री और गर्मी में 15 से 20 डिग्री में रखने से सोलर पैनल के बिजली  उत्पन्न करने की क्षमता सबसे जाएगा होगी।

FAQs:

Question: सोलर पैनल की दिशा क्या होनी चाहिए ?

Answer: सोलर पैनल को लगवाते समय इस बात का जरूर धयान रखे सोलर पैनल की दिशा हमेशा दक्षिण की होनी चाहिए, ताकि सूरज किरण जयादा देर तक सोलर पैनल पे पड़े।

Question: पुरे दिन के अंतराल में सोलर पैनल सबसे जयादा कब बिजली उत्पन्न करती है ?

Answer: अगर हम पुरे दिन की बात करे तो सोलर पैनल सबसे जयादा 10 बजे से लेकर 3 बजे तक सबसे जयादा बिजली उत्पन्न करती है।

Question: सोलर पैनल को किस एंगल पे लगाना चाहिए ?

Answer: अगर हमें सोलर पैनल की जितनी बिजली उत्पन्न करने की जितनी क्षमता है उतनी चाहिए तो सोलर पैनल का एंगल मौसम के अनुसार रखना पड़ेगा, जो की इस प्रकार है , गर्मी  में 15 से 20 डिग्री, वसंत ऋतू में 40 से 45 डिग्री और ठण्ड के दिनों में 55 से 60 डिग्री।

 

इम्पोर्टेन्ट लिंक

फ्लोटिंग सोलर पावर प्लांट क्या है और इसकी क्या विशेषताएं हैं ?

सोलर मॉडल खरीदते समय किन बातो का ख्याल रखना चाहिए ?

सोलर एनर्जी सिस्टम कितने प्रकार के होते हैं ?

 

हमारे YOU TUBE चैनल MS3 Naveen Kumar को सब्सक्राइब करने के लिए यहाँ क्लिक करे (Click Here)

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published.