कुसुम योजना (Kusum Yojana) के अंतर्गत देश के किसानो को भारत सरकार के तरफ से बड़ा तौफा - MS3 Naveen Kumar

कुसुम योजना (Kusum Yojana) के अंतर्गत देश के किसानो को भारत सरकार के तरफ से बड़ा तौफा

Reading time 4 Min

सरकार की तरफ से देश के किसान भइओ के लिए सरकार का बड़ा तौफा, कुसुम योजना (Kusum Yojana) के अंतर्गत हमारी सरकार  मुफ्त में लगा रही है सोलर पंप (Solar Pump)

कुसुम योजना (Kusum Yojana) क्या है ?

हमारा देश एक कृषि प्रधान देश है, और हमारे देश में किसानो को अन्नदाता भी कहा जाता है। भारत के किसानो को अपने खेत की सिचाई के लिए बारिश पे निर्भर रहना पड़ता है। अगर बारिश समय पे नहीं हुई तो किसानो का सारा फसल ख़राब हो जाता है और उन्हें काफी आर्थिक छाती भी होती है।

Kusum Yojana
Kusum Yojana

इसी को धयान में रखते हुए भारत सरकार ने देश के गरीब किसानो की आर्थिक और आजीविका वृद्धि के लिए कुसुम योजना (Kusum Yojana) लाई है। कुसुम योजना (Kusum Yojana) की मदद से हमारे किसान अपनी जमीन पे सोलर पैनल (Solar Panel) और सोलर पंप लगाकर खेतों की सिंचाई कर सकते है और उससे अतिरिक्त आमदनी भी कर सकते हैं।

कुसुम योजना (Kusum Yojana) की मदद से किसान की जमीन पर बनने वाली बिजली से देश के गांवों में भी बिजली की 24 घंटे आपूर्ति संभव है। इस योजना से किसानों की डीजल और केरोसिन तेल पर निर्भरता घटती है, और इससे पैदा होने वाली अतिरिक्त बिजली को वे किसी कंपनी या किसी उपभोक्ता या फिर बिजली विभाग / ग्रिड को बेच भी सकते हैं।  इस योजना से किसान सौर ऊर्जा उत्पादन करने और उसे ग्रिड को बेचने में सक्षम होता है, यानी उनकी आमदनी भी बढ़ेगी ।

कुसुम योजना (Kusum Yojana) के माध्यम से भारत के किसानो को काफी लाभ प्राप्त हो रहा है। इस योजना के ज़रिये राज्य के किसान अपने खेतो में सोलर पैनल (Solar Panel) लगाकर सोलर ऊर्जा से सोलर पंप चला सकते हैं और दिन के समय ही सोलर पैनल (Solar Panel) से जो बिजली उत्पन्न होती है उससे से सिचाई कर सकते हैं और इससे उनकी आय में भी बढ़ती है क्यूंकि पंप चलने के लिए उन्हें बिजली का बिल नहीं भरना परता है।

कुसुम योजना (Kusum Yojana) के तहत किसान सोलर पंप लगाने के कुल लगत के 30 प्रतिशत का भुक्तान केंद्र सरकार द्वारा किया जा रहा है और 30 प्रतिशत का भुक्तान राज्य सरकार द्वारा किया जा रहा है साथ हीं 30 प्रतिशत का भुक्तान नाबार्ड (NABARD) द्वारा आसान किस्तों के रूप में दी जा रही है, और शेष 10 प्रतिशत का भुक्तान किसान को जमा करवा कर सौलर सिस्टम लगवा सकते हैं।

कुसुम योजना (Kusum Yojana) से क्या लाभ है ?

कुसुम योजना (Kusum Yojana) के अंतर्गत केंद्र सरकार और राज्य सरकार दोनों मिलकर करीब 3 करोड़ डीजल और पेट्रोल से चलने वाले सिंचाई पंपों को सोलर पंप में तब्दील करेगी, इस योजना के तहत सरकार किसानों को अपने खेतों में सोलर पंप (Solar Pump) लगाने के लिए प्रोत्साहित करेगी। सरकार ने शुरुआत में इस योजना के लिए 50 करोड़ के बजट की घोषणा की है।

कुसुम योजना (Kusum Yojana) के माध्यम से भारत के किसानो को काफी लाभ प्राप्त हो रहा है। इस योजना के ज़रिये राज्य के किसान अपने खेतो में सोलर पैनल (Solar Panel) लगाकर सोलर ऊर्जा से सोलर पंप चला सकते हैं।

कुसुम योजना (Kusum Yojana) के तहत सोलर पंप लगाने के कुल लगत के 30 प्रतिशत का भुक्तान केंद्र सरकार द्वारा की जा रही है और 30 प्रतिशत का भुक्तान राज्य सरकार द्वारा की जा रही है और साथ हीं 30 प्रतिशत का भुक्तान नाबार्ड (NABARD) द्वारा आसान किस्तों के रूप में दी जा रही है, शेष 10 प्रतिशत का भुक्तान किसान को जमा करवा कर सौलर सिस्टम लगवा सकते हैं। इस योजना के अंतर्गत 3 से 7. 5 एचपी के सोलर पंप लगाए जा रहे है

कुसुम योजना (Kusum Yojana) के अंतर्गत सोलर पंप लगवाने में लागत?

अगर कोई किसान कुसुम योजना के अंतर्गत सोलर पंप लगवाना चाहते है है तो 3 एचपी के लिए 20549 रुपए, 5 एचपी के 33749 रुपए और 7.5 एचपी के लिए 46687 रुपए की राशि का डिमांड के रूप में किसान को जमा करवाना होगा  तभी वह अपने खेतो में सिचाई के लिए सोलर पंप लगवा सकता है।

इस योजना के अंतर्गत जो किसान अपने खेतो में सोलर पंप लगाने के लिए लोन ले रहे है जो की नाबार्ड (NABARD) के द्वारा दी जा रही है उस लोन का भुगतान किसान को नगद नहीं करना है बल्कि, सोलर पैनल से जो बिजली उत्पन्न होगी वह किसी दूसरे किसान किसान या फिर  सरकार को ग्रिड में निर्यात करके लोन की क़िस्त चूका सकता है और अतिरिक्त आमदनी भी कर सकता है।

आवेदन कैसे करना है?

अगर आप कुसुम योजना (Kusum Yojana) के तहत सोलत पंप लगवाना चाह रहे तो आपको ऑनलाइन आवेदन करना होगा या फिर आप ऑफ़ लाइन आवेदन भी कर सकते हैं। आवेदन की प्रक्रिया शुरू करने से पहले आपको कुछ बातो का ध्यान रखना होगा। पहला तो आपका फ़ोन नंबर चालू होना चाहिए जीसपे अधिकारी मैसेज करके या फ़ोन से आपको संपर्क कर सके। इसके साथ आपके पास आधार कार्ड या रसन कार्ड या वोटर कार्ड होना चाहिए।

ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन करने के लिए यहाँ क्लिक करे।

उसके बार एक नया पेज खुल जाएगा जो की इस तरह होगा।

kusum yojana
kusum yojana

यहाँ आपको अपनी सारी जानकारी देनी होगी, सारी जानकारी भरने के बाद इस पेज को सबमिट कर देना है। पेज जैसे हीं सबमिट हो जाएगा आपको एक कन्फर्मेशन मैसेज चला जाएगा।

कुसुम योजना (Kusum Yojana) से संबंधित कुछ महत्वपूर्ण जानकारी

  1. कुसुम योजना (Kusum Yojana) की एक सबसे खास बात है की इस योजना के अंतर्गत किसानो कुल लागत का केवल 10 % हीं भुक्तान करना होगा
  2. इसके अलावा जो अतिरिक्त बिजली है जिसका किसान उपयोग नहीं कर पा रहा है उसे ओ बेच भी सकता है।
  3. आवेदन करता के आधार कार्ड और एक चालू खता होना चाहिए।
  4. सरकार द्वारा जो सब्सिडी दी जाएगी ओ सीधा किसान के बैंक खाते में जमा हो जाएगी।
  5. इसके अलावा किसान, डिस्कॉम (DISCOM) एवं बैंक के साथ थर्ड पार्टी एग्रीमेंट साइन किया जाएगा।
  6. किसान द्वारा बेची गई बिजली की बिजली से किसानो को जो कमाई होगी उसको दो हिस्सों में बांटा जाएगा।
  7. पहला हिस्सा किसान का होगा और दूसरा हिस्सा नाबार्ड (NABARD) का होगा जिसने किसान को 30 % का लोन दिया है।

इम्पोर्टेन्ट लिंक (Important Link)

भारत में 5 सबसे सस्ती इलेक्ट्रिक स्कूटर

यामाहा Neo और E01 इलेक्ट्रिक स्कूटर जाने प्राइस, रेंज और स्पेसिफिकेशन

हौंडा एक्टिवा इलेक्ट्रिक स्कूटर की प्राइस, रेंज और स्पेसिफिकेशन क्या है ?

इलेक्ट्रिक स्कूटर खरीदने के क्या फायदे हैं ?  

इलेक्ट्रिक वाहन में किस प्रकार के बैटरी का प्रयोग किया जाता है ?

इलेक्ट्रिक कार को घर पे कैसे चार्ज करे ?

और भी जानकारी भरे वीडियो देखने के लिए हमारे YOU TUBE चैनल MS3 Naveen Kumar को सब्सक्राइब करे।

हमारे साथ जुड़ने के लिए और अपना  कीमती समय देने के लिए आपका बहुत बहुत धन्यवाद !!

Related Posts

This Post Has 4 Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published.